हसीन तुम हो इस जहां में-Hindi songs

हसीन तुम हो इस जहां में उड़ चले हम आसमां में, छुप जाएं हम बादलों में, बनके पानी इस धरा पर बरसे रिमझिम-रिमझिम, कितना मजा आएगा, इस खेल में चलो ना खेलने, मुझे फूल से है खेलना अच्छा लगता, तुम पास ना होते अकेले मेै क्या करता, पकड़कर उंगली साथ-साथ मै चलना चाहता हूं, मैं तुम्हारे प्यार में घूमना चाहता हूं,  हसीन तुम हो इस जहां में उड़ चले हम आसमान में, छुप जाएं हम बादलों में, बनके पानी इस धरा पर बरसे रिमझिम रिमझिम, तुम्हारी गलियों में फूल बनकर खिलना चाहती हूं, दो रहना मुश्किल है एक होना चाहता हूं, पा गई मैं तुम्हें अब ना खोना चाहती हूं, जिंदगी के हर डगर पर साथ चलना चाहती हूं, खुल गई हूं सनम और खुलना चाहती हूं, करीब हर घड़ी मै रहूं ऐसा मिलना चाहती हूं, हसीन तुम हो इस जहां में उड़ चले हम आसमां में, छुप जाएं हम बादलों में, बनके पानी इस धरा पर बरसे रिमझिम-रिमझिम

तुम आखिर चली ही गयी ये शहर छोड़कर-Hindi songs

तुम आखिर चली ही गयी ये शहर छोड़कर
याद करने के सिवा कुछ न बचा सामो पहर
तुम दूर चली गयी फिर भी तो क्या
याद तुम्हारी दिल से जाती नहीं
मै भूलाने की तुमको कोसिस किया
मगर हर कोसिस रहा बे असर
जिस शहर में तुम रहती वो प्यारा शहर
मुझको बुलाये घड़ी दर घड़ी सामो पहर दोपहर
तुमने कहा था चली आउंगी ये शहर छोड़कर
मै पागल था कुछ भी समझा नहीं
दूर हो तो क्या फिर भी सनम प्यास घटती नहीं
मुझको दिया सनम क्यू इतना प्यार
जी चाहे यूही मिले बार बार
मगर इस बदनसीब के क़िस्मत में कहा होगा नसीब
मेरे दोस्त मेरे यार मुझको दिया हद  ज्यादा प्यार
जी चाहे यूही मिले बार बार
तुम आखिर चली ही गयी ये शहर छोड़कर
याद करने के सिवा कुछ न बचा सामो पहर

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

इतनी सोड़ी लगती हो सोना फिका पड़ जाये-Hindi songs

हसीन तुम हो इस जहां में-Hindi songs

हम अजनबी हैं तुम अजनबी हो-Hindi songs